Chat GPT क्या है और काम कैसे करता है | Chat GPT By Open AI

Join WhatsApp GroupJoin Now
Join Telegram GroupJoin Now
5/5 - (1 vote)

Chat GPT क्या है और कैसे काम करता है (Chat GPT in Hindi, Open AI, founder, API, Website, app, login, Sign up, Alternatives, Owner, Meaning, Conversational API)

इंटरनेट पर और टेक्नोलॉजी की दुनिया में चैट जीपीटी की चर्चा काफी तेजी से हो रही है। इसके बारे में लोग जानने के लिए उत्सुक है। इसके बारे में कहा जा रहा है कि यह गूगल सर्च को भी टक्कर दे सकता है।‌ प्राप्त जानकारी के अनुसार चैट जीपीटी से आप जो भी सवाल पूछते हैं उसका जवाब आपको लिख करके दिया जाता है।

फिलहाल वर्तमान के समय में इस पर काम चल रहा है और जल्द से जल्द इसे लोगों तक बड़े पैमाने पर पहुंचाया जाएगा। जिन लोगों ने सोशल मीडिया यूजर के तौर पर इसका टेस्ट किया है उन्होंने इसे पॉजिटिव रिस्पांस दिया है।‌आइए आखिर जान लेते हैं कि “चैट जीपीटी क्या है” और “चैट जीपीटी का इतिहास क्या है” तथा “चैट जीपीटी काम कैसे करता है।”

Chat GPT
Chat GPT

Chat GPT Highlight 2023

Name:chat gpt  
Site:  chat.openai.com
Release:  30 Nov. 2022
Type:Artificial intelligence chatbot  
License:  proprietey
Original author:  OpenAI
Ceo:Sam Altman  

चैट जीपीटी क्या है (What is Chat GPT)

अंग्रेजी भाषा में चैट जीपीटी का फुल फॉर्म चैट जेनरेटिव प्रिट्रेंड ट्रांसफार्मर होता है। इसका निर्माण ओपन आर्टिफिशियल इंटेलिजेंस के द्वारा किया गया है जो कि एक प्रकार का चैट बोट है। आर्टिफिशियल इंटेलिजेंस की वजह से ही यह आर्टिफिशियल इंटेलिजेंस पर काम करेगा। प्राप्त जानकारी के अनुसार आप इसके द्वारा सरलता से शब्दों के प्रारूप में बात कर सकते हैं और अपने किसी भी प्रकार के सवाल का जवाब प्राप्त कर सकते हैं। इसे अगर हम एक प्रकार का सर्च इंजन समझे तो इसमें भी कोई अतिशयोक्ति नहीं होगी।

अभी इसकी लॉन्चिंग हुई है। इसलिए अभी सिर्फ यह अंग्रेजी भाषा में ही इस्तेमाल करने के लिए अंतरराष्ट्रीय स्तर पर मौजूद है। हालांकि आगे बढ़ने पर इसमें अन्य भाषाओं को भी जोड़ने का प्रावधान रखा गया है। आप यहां पर जो भी सवाल लिखकर पूछते हैं, उस सवाल का जवाब चैट जीपीटी के द्वारा आपको विस्तार से प्रदान किया जाता है। इसे साल 2022 में 30 नवंबर के दिन लांच किया गया है और इसकी आधिकारिक वेबसाइट chat.openai.com है। इसके यूजर की संख्या अभी तक 2 मिलियन के आसपास पहुंच चुकी है।

चैट जीपीटी का फुल फॉर्म (Full Form of Chat GPT)

Chat gpt यानी Chat Generative Pre-Trained Transformer जब आप गूगल पर किसी भी चीज को सर्च करते हैं तो गूगल के द्वारा आपको उस चीज से संबंधित कई वेबसाइट दिखाई जाती है परंतु चैट जीपीटी बिल्कुल अलग तरीके से काम करता है। यहां पर आप जब कोई सवाल सर्च करते हैं तो चैट जीपीटी उस सवाल का डायरेक्ट जवाब आपको दिखाता है। चैट जीपीटी के द्वारा आपको निबंध, यूट्यूब वीडियो स्क्रिप्ट, कवर लेटर, बायोग्राफी, छुट्टी की एप्लीकेशन इत्यादि लिख कर के दिया जा सकता है।

चैट जीपीटी का इतिहास (History of Chat GPT)

Sam Altman नाम के व्यक्ति के द्वारा एलन मस्क के साथ मिलकर के साल 2015 में चैट जीपीटी की स्टार्टिंग की गई थी। हालांकि जब इसकी शुरुआत की गई थी तभी यह एक नॉनप्रॉफिट कंपनी थी परंतु 1 से 2 साल के पश्चात ही एलेन मस्क के द्वारा इस प्रोजेक्ट को बीच में ही छोड़ दिया गया है।

इसके पश्चात बिल गेट्स की माइक्रोसॉफ्ट कंपनी के द्वारा इसमें बेहतरीन अमाउंट का इन्वेस्टमेंट किया गया और साल 2022 में 30 नवंबर के दिन एक प्रोटोटाइप के तौर पर इसे लांच किया गया। ओपन आर्टिफिशियल इंटेलिजेंस के चीफ एग्जीक्यूटिव ऑफिसर अल्टमैन के अनुसार इसके द्वारा अभी तक 20 मिलियन से अधिक यूज़र तक अपनी पहुंच बना ली गई है और लगातार यूजर की संख्या में वृद्धि दर्ज की जा रही है।

चैट जीपीटी कैसे काम करता है (How Chat GPT works?)

इसकी वेबसाइट पर इस बारे में काफी विस्तार से इस बात की जानकारी दी गई है कि आखिर यह काम कैसे करता है। दरअसल इसे ट्रेन करने के लिए डेवलपर के द्वारा इसके लिए पब्लिक तौर पर उपलब्ध डाटा का यूज किया गया है।जो डाटा इस्तेमाल में लाया गया है उसी में से यह चैट बोट आपके द्वारा जो सवाल सर्च किए जाते हैं उसका जवाब ढूंढता है और फिर जवाब को सही प्रकार से और सहीं लैंग्वेज में क्रिएट करता है और उसके पश्चात रिजल्ट को आपके डिवाइस की स्क्रीन पर प्रस्तुत करता है।

यहां पर आपको यह भी बताने का ऑप्शन मिलता है कि आप इसके द्वारा बताए गए जवाब से संतुष्ट हैं अथवा नहीं है। आपके द्वारा जो भी जवाब दिया जाता है उसके हिसाब से यह अपने डाटा को भी लगातार अपडेट करता रहता है।हालांकि आपकी जानकारी के लिए बता दें कि चैट जीपीटी की ट्रेनिंग साल 2022 में खत्म हो चुकी है। इसलिए आपको इसके बाद की जो घटना घटित हुई है उसकी जानकारी या फिर डेटा की जानकारी सही तौर पर प्राप्त नहीं हो सकेगी।

चैट जीपीटी की विशेषताएं (Special Features of Chat GPT)

आइए अब इस बात की भी जानकारी प्राप्त करते हैं कि आखिर चैट जीपीटी की मुख्य विशेषताएं क्या क्या है।

इसकी प्रमुख विशेषता यह है कि आपके द्वारा जो सवाल यहां पर पूछे जाते हैं उनका जवाब आपको बिल्कुल विस्तार से आर्टिकल के प्रारूप में प्रदान होता है।

  • कंटेंट तैयार करने के लिए चैट जीपीटी का इस्तेमाल किया जा सकता है।
  • यहां पर आप जो भी सवाल पूछते हैं उसका जवाब आपको रियल टाइम में प्राप्त होता है।
  • इस सुविधा का इस्तेमाल करने के लिए किसी भी यूजर से पैसे नहीं लिए जाएंगे, क्योंकि इस सुविधा को बिल्कुल मुफ्त में लोगों के लिए लांच किया गया है।
  • आप इसकी सहायता से बायोग्राफी, एप्लीकेशन, निबंध इत्यादि चीजें भी लिखकर तैयार कर सकते हैं।

चैट जीपीटी का इस्तेमाल कैसे करें (How to use Chat GPT, Login, Sing Up)

हम यहां पर आप को इस बात से अवगत करवा देना चाहते हैं कि इसका इस्तेमाल करने के लिए आपको इसकी आधिकारिक वेबसाइट पर विजिट करना होगा और अपना अकाउंट पंजीकृत करना होगा। अकाउंट बनाने के पश्चात ही आप चैट जीपीटी का इस्तेमाल कर सकेंगे।

वर्तमान में इसका इस्तेमाल बिल्कुल मुफ्त में किया जा सकता है और बिल्कुल मुफ्त में इसकी आधिकारिक वेबसाइट पर अकाउंट भी क्रिएट किया जा सकता है। हालांकि भविष्य में हो सकता है कि इसका इस्तेमाल करने के लिए लोगों से सामान्य चार्ज वसूल किया जाए।

1: जो व्यक्ति इसका इस्तेमाल करना चाहता है उसे सबसे पहले अपने मोबाइल में इंटरनेट डाटा कनेक्शन ऑन करना है और उसके पश्चात किसी भी ब्राउज़र को ओपन करना है।

2: ब्राउज़र ओपन करने के बाद उसे Chat.openai.com वेबसाइट को ओपन करना है।

3: वेबसाइट के होम पेज पर जाने के बाद उसे लॉगिन और साइन अप इस प्रकार के दो ऑप्शन दिखाई देंगे, जिनमें से उसे साइन अप वाले ऑप्शन पर क्लिक करना है, क्योंकि हम यहां पर पहली बार इस वेबसाइट पर अपना अकाउंट बनाने जा रहे हैं।

4: आप यहां पर ईमेल आईडी अथवा माइक्रोसॉफ्ट अकाउंट अथवा जीमेल आईडी का इस्तेमाल करके अकाउंट बना सकते हैं।जीमेल आईडी से इस पर अकाउंट बनाने के लिए आपको जो कंटिन्यू विद गूगल वाला ऑप्शन दिखाई दे रहा है उस पर क्लिक कर देना है।

5: अब आप अपने मोबाइल में जिस जीमेल आईडी का इस्तेमाल करते हैं वह आपको दिखाई देगी। जिस जीमेल आईडी के द्वारा आप अकाउंट बनाना चाहते हैं उसके नाम के ऊपर क्लिक करें।

6: अब आपको जो पहला वाला बॉक्स दिखाई दे रहा है उसमें आपको अपना नाम इंटर करना है और उसके पश्चात आपको फोन नंबर वाले बॉक्स में अपना फोन नंबर इंटर करना है और कंटिन्यू बटन पर क्लिक कर देना है।

7: अब चैट जीपीटी के द्वारा आपके द्वारा इंटर किए गए फोन नंबर पर एक वन टाइम पासवर्ड सेंड किया जाएगा। उसे स्क्रीन पर दिखाई दे रहे बॉक्स में डाल कर वेरीफाई बटन पर क्लिक कर दें।

फोन नंबर का वेरिफिकेशन हो जाने के पश्चात आपका अकाउंट चैट जीपीटी पर बन जाता है। इसके बाद आप इसका इस्तेमाल करना शुरू कर सकते हैं।

चैट जीपीटी के फायदे (Benefits of ChatGPT)

अभी हाल ही में इसे लॉन्च किया गया है। इसलिए हर कोई चैट जीपीटी के फायदे के बारे में जानने में काफी रुचि रख रहा है। आइए नीचे आपको हम इसके एडवांटेज की जानकारी भी प्रदान करते हैं और जानते हैं कि आखिर चैट जीपीटी के लाभ क्या हैं।

  • इसका सबसे बड़ा फायदा यूजर को यह मिलता है कि जब वह इस पर कुछ भी सर्च करता है तो उसको डायरेक्ट उसके सवाल का जवाब बिल्कुल विस्तार से प्राप्त होता है। यानी कि उसे अपने सवाल की पूरी जानकारी हासिल हो जाती है।
  • जब आप गूगल पर कुछ भी सर्च करते हैं तो सर्च रिजल्ट के बाद अलग-अलग वेबसाइट दिखाई देती है, परंतु चैट जीपीटी पर ऐसा नहीं होता है। आपको यहां पर डायरेक्ट संबंधित रिजल्ट पर ले करके जाया जाता है।
  • इसमें एक अन्य शानदार सुविधा भी चालू कर दी है। यानी कि जब आप कुछ सर्च करते हैं और जो रिजल्ट आपको दिखाई देता है अगर आप रिजल्ट से संतुष्ट नहीं है तो आप इसकी जानकारी भी चैट जीपीटी को प्रदान कर सकते हैं, उसी के आधार पर इसके द्वारा लगातार रिजल्ट को अपडेट किया जाता रहता है।
  • आपसे इस सर्विस का इस्तेमाल करने के लिए एक रुपए नहीं लिए जा रहे हैं, यानी कि यूजर फ्री में इसका इस्तेमाल कर सकता है।

चैट जीपीटी के नुकसान (Cons of Chat GPT)

ऊपर हमने इसके फायदे के बारे में जाना, अब आइए हम चैट जीपीटी के डिसएडवांटेज क्या हैं अथवा चैट जीपीटी की हानि क्या है, इसके बारे में भी जानकारी प्राप्त करते हैं। इनके पास जो डाटा मौजूद है वह लिमिटेड ही है।

  • वर्तमान के समय में चैट जीपीटी के द्वारा सिर्फ अंग्रेजी भाषा को ही सपोर्ट किया जा रहा है। इसलिए जो लोग अंग्रेजी भाषा समझते हैं उनके लिए यह उपयोगी साबित होगा। हालांकि भविष्य में अन्य भाषाओं को भी शामिल किया जाएगा।
  • ऐसे कई सवाल है जिसका जवाब आपको यहां पर प्राप्त नहीं हो पाता है।
  • इसकी ट्रेनिंग साल 2022 की स्टार्टिंग में ही खत्म हो चुकी है। ऐसे में साल 2022 के मार्च के महीने के पश्चात की जो घटना है उसके बारे में शायद ही आपको यहां पर जानकारी मिले।
  • बता दे कि जब तक ही आप इसका इस्तेमाल फ्री में कर सकेंगे जब तक यह रिसर्च पीरियड में है। रिसर्च पीरियड पूरा हो जाने के पश्चात इसका इस्तेमाल करने के लिए यूजर को पैसे देने की आवश्यकता होगी। हालांकि यह पैसे कितने होंगे, इसके बारे में अभी कोई भी जानकारी उपलब्ध नहीं करवाई गई है।

क्या चैट जीपीटी गूगल को पीछे छोड़ देगा (Will Chat GPT kill Google?)

अलग-अलग हिंदी और अंग्रेजी समाचार चैनल को जब हमने देखा, साथ ही अलग-अलग हिंदी और अंग्रेजी न्यूज़ वेबसाइट को भी जब हमने खंगाला तो इस बात की जानकारी हमें प्राप्त हुई कि वर्तमान के समय में चैट जीपीटी के द्वारा गूगल को पीछे नहीं छोड़ा जा सकेगा, क्योंकि चैट जीपीटी के पास वर्तमान के समय में लिमिटेड इंफॉर्मेशन ही अवेलेबल है और इस पर ज्यादा ऑप्शन भी मौजूद नहीं है।

इसके द्वारा किसी को सिर्फ उतना ही जवाब दिया जा सकता है जितना जवाब देने के लिए इसे ट्रेन किया गया है, वही इसके विपरीत गूगल के पास दुनिया भर के अलग-अलग लोगों का डाटा मौजूद है। इसलिए गूगल पर आपको विभिन्न प्रकार की जानकारी ऑडियो, वीडियो, फोटो तथा शब्द फॉर्मेट में प्राप्त हो जाती है।

इसके अलावा चैट जीपीटी की एक खामी यह भी है कि यहां पर आपको सवालों के जवाब मिलते हैं वह सही हो यह जरूरी नहीं है, परंतु दूसरी तरफ गूगल के पास लेटेस्ट टेक्नोलॉजी वाला एल्गोरिथ्म मौजूद है, जिसके द्वारा वह आसानी से इस बात को समझ जाता है कि यूजर जो सर्च कर रहा है उसके पीछे यूजर को क्या प्राप्त करने की इच्छा है।

इसी कारण से यह कहा जा सकता है कि वर्तमान के समय में गूगल को किसी भी प्रकार से चैट जीपीटी के द्वारा पछाड़ा नहीं जा सकता है। हालांकि चैट जीपीटी अगर लगातार अपने आपको बेहतरीन करने पर काम करता है तो गूगल को पीछे छोड़ा भी जा सकता है।

क्या चैट जीपीटी से जॉब में कमी आएगी (Will Chat GPT Kill Human Jobs?)

टेक्नोलॉजी की बात की जाए तो ऐसी कई टेक्नोलॉजी आ चुकी है जिसकी वजह से समय-समय पर इंसानों को अपनी नौकरी से हाथ धोना पड़ा है।

इसीलिए कई लोग इस बात को लेकर भी चिंतित है कि चैट जीपीटी की वजह से कई लोगों को अपनी नौकरी गंवानी पड़ सकती है। हालांकि अगर विस्तार पूर्वक देखा जाए तो इसकी वजह से किसी भी इंसान की नौकरी खतरे में नहीं आती है।

क्योंकि इसके द्वारा जो जवाब उपलब्ध करवाए जाते हैं वह 100 पर्सेंट सही नहीं होते हैं। हालांकि हो सकता है कि आने वाले समय में चैट जीपीटी की टीम इस पर काफी मेहनत के साथ काम करें और इसे लेटेस्ट टेक्नोलॉजी के साथ एडवांस बनाने का प्रयास करें।

ऐसी अवस्था में यह विभिन्न लोगों की नौकरी को खत्म भी कर सकता है। अगर इसे लगातार डिवेलप किया जाता रहता है तो इसकी वजह से ऐसी नौकरी खत्म हो सकती है जिसमें सवाल-जवाब से संबंधित कामकाज होते हैं। जैसे कि कस्टमर केयर, कोचिंग पढ़ाने वाले टीचर इत्यादि।

चैट जीपीटी का फुल फॉर्म क्या है?

Chat Generative Pre-Trained Transformer

चैट जीपीटी कब लॉन्च हुआ?

30 नवंबर 2022

चैट जीपीटी कौन सी भाषा में लांच हुआ?

अंग्रेजी

चैट जीपीटी की आधिकारिक वेबसाइट क्या है?

chat.openai.com

WhatsApp Group Join Now

NEW Telegram Group Join Now

Leave a Comment

error: Content is protected !!