67th National Film Awards: रजनीकांत को दादा साहब फाल्के पुरस्कार, कंगना, धनुष और मनोज बाजपेयी बने बेस्ट एक्टर्स

Join WhatsApp GroupJoin Now
Join Telegram GroupJoin Now
Rate this post

भारतीय सिनेमा मनोरंजन उद्योग का आकर्षण है। 67 वें राष्ट्रीय फिल्म अवार्ड (67th National Film Awards in Hindi) की घोषणा फिल्म समारोह निदेशालय द्वारा की गई थी, जो सूचना और प्रसारण मंत्रालय के अंतर्गत आता है। भारतीय सिनेमा में 2019 और 2020 की सर्वश्रेष्ठ फिल्मों को सम्मानित करने के लिए 22 मार्च 2021 को एक प्रेस मीट में फिल्म पुरस्कारों की घोषणा की गई।

Telegram Join

🔷 यह पुरस्कार 3 मई 2020 को आयोजित किए जाने थे, लेकिन COVID-19 महामारी के कारण स्थगित कर दिए गए थे।

🔷 इस साल 731 फिल्मों ने प्रतिस्पर्धा की। इस वर्ष के पुरस्कारों में कुल 461 फ़ीचर फ़िल्में, 220 नॉन फ़ीचर फ़िल्में, सिनेमा पर 25 पुस्तकें, 12 फ़िल्म क्रिटिक्स और 13 फ़िल्म फ्रेंडली राज्यों ने प्रतिस्पर्धा की।

🔷 राष्ट्रीय फिल्म पुरस्कार 31 श्रेणियों में दिए जाते हैं।

🔷 विजेताओं की पूरी सूची प्राप्त करने के लिए राष्ट्रीय फिल्म पुरस्कार 2020 (67th National Film Awards Hindi me) पर लेख पढ़ें।

🔷राष्ट्रीय फिल्म पुरस्कार – फोटो : ट्विटर

67वें राष्ट्रीय फिल्म पुरस्कार समारोह का आयोजन विज्ञान भवन में किया गया। विजेताओं को उपराष्ट्रपति वेंकैया नायडू ने स्वर्ण कमल एवं रजत कमल, शॉल और ईनाम की राशि देकर सम्मानित किया। मनोज बाजपेयी, कंगना रणौत और धनुष को बेहतरीन अभिनय के लिए सम्मानित किया गया। छिछोरे को सर्वश्रेष्ठ हिंदी फिल्म का पुरस्कार मिला। सुशांत सिंह राजपूत की फिल्म छिछोरे के निर्देशक नितेश तिवारी को सम्मानित किया गया। 67वें राष्ट्रीय फिल्म पुरस्कारों की घोषणा मार्च 2021 में की गई थी। कंगना अपने मां और पिता के साथ अवॉर्ड लेने पहुंचीं।

सुपरस्टार रजनीकांत को 51वें दादासाहेब फाल्के पुरस्कार से सम्मानित किया गया। इस दौरान विज्ञान भवन में मौजूद सभी लोगों ने उनके लिए खड़े होकर तालियां बजाईं।

इन कलाकारों को मिलेगा अवॉर्ड –
🔷 सर्वश्रेष्ठ अभिनेत्री – कंगना रणौत
अभिनेत्री कंगना रणौत को एक बार फिर से सर्वश्रेष्ठ अभिनेत्री का पुरस्कार मिला है। उन्हें 25 जनवरी 2019 में रिलीज हुई  मणिकर्णिका और 24 जनवरी 2020 में आई पंगा के लिए सम्मानित किया गया।
 
🔷 सर्वश्रेष्ठ अभिनेता – मनोज वाजपेयी
मनोज वाजपेयी को भोंसले के लिए सर्वश्रेष्ठ अभिनेता का अवॉर्ड मिला है। देवाशीष मखीजा द्वारा लिखित और निर्देशित ड्रामा फिल्म में मनोज वाजपेयी की भूमिका को लेकर उन्हें सर्वश्रेष्ठ अभिनेता का पुरस्कार दिया गया है।
बेस्ट बॉयोग्राफिकल फिल्म – एलिफेंट डू रिमेम्बर
स्वाती पांडे द्वारा निर्देशित ‘एलिफेंट डू रिमेम्बर’ ने बेस्ट बॉयोग्राफिकल फिल्म के लिए पुरस्कार जीता है।
 
🔷 बेस्ट सपोर्टिंग एक्टर – विजय सेतुपति
साउथ अभिनेता विजय सेतुपति को बेस्ट सपोर्टिंग एक्टर के तौर पर राष्ट्रीय पुरस्कार दिया गया है। उन्हें तमिल फिल्म ‘सुपर डीलक्स’ के लिए सम्मानित किया गया, जो 29 मार्च 2019 में रिलीज हुई थी। त्यागराजन कुमार राजा ने फिल्म को निर्देशित किया था।

🔷 बेस्ट सपोर्टिंग एक्ट्रेस- पल्लवी जोशी
‘द ताशकंद फाइल्स’ में प्रभावशाली किरदार निभाने के लिए दक्षिण अभिनेत्री पल्लवी जोशी को राष्ट्रीय पुरस्कार से नवाज़ा गया है। विवेक अग्निहोत्री द्वारा निर्देशित यह फिल्म 12 अप्रैल 2019 में रिलीज हुई थी। 4 करोड़ के बजट वाली इस फिल्म ने 20 करोड़ से ज्यादा का बॉक्स ऑफिस कलेक्शन किया था।

# 67 वें राष्ट्रीय फिल्म पुरस्कारों की घोषणा वर्तमान में नई दिल्ली में की जा रही है. यह पुरस्कार वर्ष 2019 की फिल्मों के लिए हैं. यह आयोजन फिल्म समारोह निदेशालय द्वारा आयोजित किया जाता है, जो सूचना और प्रसारण मंत्रालय के अंतर्गत आता है. यह समारोह पिछले साल मई में आयोजित किया जाना था लेकिन COVID-19 महामारी के कारण अनिश्चित काल के लिए विलंबित हो गया.

यहां सभी विजेताओं की पूरी सूची दी गई है:

🎬 फीचर फिल्म पुरस्कार 🎬

🏆 सर्वश्रेष्ठ फ़ीचर फ़िल्म: मरक्कर: लायन ऑफ़ द अरेबियन सी (मलयालम)

🏆 सर्वश्रेष्ठ अभिनेता (साझा): भोंसले (हिंदी) के लिए मनोज बाजपेयी, और असुरन (तमिल) के लिए धनुष

🏆 सर्वश्रेष्ठ अभिनेत्री: पंगा (हिंदी) और मणिकर्णिका: द क्वीन ऑफ़ झाँसी (हिंदी) के लिए कंगना रनौत

🏆 सर्वश्रेष्ठ सहायक अभिनेत्री: द ताशकंद फाइल (हिंदी) के लिए पल्लवी जोशी

🏆 सर्वश्रेष्ठ सहायक अभिनेता: सुपर डीलक्स (तमिल) के लिए विजय सेतुपति

🏆 सर्वश्रेष्ठ निर्देशक: बहत्तर हूरें (हिंदी) के लिए संजय पूरन सिंह चौहान

🏆 एक निर्देशक की बेस्ट डेब्यू फिल्म: हेलन (मलयालम) के लिए मथुकुट्टी जेवियर

🏆 सर्वश्रेष्ठ बाल कलाकार: केडीए (तमिल) के लिए नागा विशाल

🏆 सर्वश्रेष्ठ एक्शन डायरेक्शन: अवने श्रीमन्नारायण (कन्नड़), विक्रम मोर

🏆 सर्वश्रेष्ठ कोरियोग्राफी: महर्षि (तेलुगु), राजू सुंदरम

🏆 सर्वश्रेष्ठ विशेष प्रभाव: मरक्कर: लायन ऑफ़ द अरेबियन सी (मलयालम), सिद्धार्थ प्रियदर्शन

🏆 स्पेशल जूरी अवार्ड: ओर्था सेरुप्पु साइज़ 7 (तमिल), राधाकृष्णन पर्थिएपन

🏆 सर्वश्रेष्ठ गीत: कोलांबी (मलयालम) के लिए प्रभा वर्मा

🏆 सर्वश्रेष्ठ संगीत निर्देशन: विश्वसम (तमिल) के लिए डी. इम्मान

🏆 बेस्ट बैकग्राउंड म्यूजिक: ज्येष्ठपुत्रो (बंगाली) के लिए प्रबुद्ध बनर्जी

🏆 सर्वश्रेष्ठ मेकअप आर्टिस्ट: हेलन (मलयालम) के लिए रंजीथ

🏆 सर्वश्रेष्ठ वेशभूषा: मरक्कर: लायन ऑफ़ द अरेबियन सी (मलयालम) के लिए सुजीत सुधाकरन और वी. साई

🏆 सर्वश्रेष्ठ उत्पादन डिजाइन: आनंदी गोपाल (मराठी), सुनील निगवेकर और नीलेश वाघ

🏆 सर्वश्रेष्ठ आत्मकथा (स्थान ध्वनि रिकॉर्डिस्ट): इवुध (खासी), देबजीत गायन

🏆 सर्वश्रेष्ठ ऑडीोग्राफ़ी (अंतिम मिश्रित ट्रैक का पुनःरिकार्डर): ओर्था सेरुप्पु साइज़ 7 (तमिल), रेसुल पूकुट्टी

🏆 सर्वश्रेष्ठ पटकथा (मूल): ज्येष्ठोपुत्रो (बंगाली), कौशिक गांगुली

🏆 सर्वश्रेष्ठ पटकथा (अनुकूलित): गुमनामी (बंगाली), श्रीजीत मुखर्जी

🏆 सर्वश्रेष्ठ पटकथा (संवाद लेखक): द ताशकंद फाइल्स (हिंदी), विवेक रंजन अग्निहोत्री

🏆 सर्वश्रेष्ठ सिनेमैटोग्राफी: जल्लीकट्टू (मलयालम), गिरीश गंगाधरन

🏆 सर्वश्रेष्ठ संपादन: जर्सी (तेलुगु), नवीन नूली

🏆 सर्वश्रेष्ठ चिल्ड्रन फ़िल्म: कस्तूरी (हिंदी)

🏆 पर्यावरण संरक्षण पर सर्वश्रेष्ठ फिल्म: वाटर बुरिअल (मोनपा)

🏆 सामाजिक मुद्दों पर सर्वश्रेष्ठ फिल्म: आनंदी गोपाल (मराठी)

🏆 राष्ट्रीय एकता पर सर्वश्रेष्ठ फिल्म: ताजमहल (मराठी)

🏆 सर्वश्रेष्ठ लोकप्रिय फिल्म प्रदान करने वाला सर्वश्रेष्ठ मनोरंजक: महर्षि (तेलुगु)

🏆 सर्वश्रेष्ठ महिला पार्श्व गायिका: बार्दो (मराठी) के लिए सावनी रवींद्र

🏆 सर्वश्रेष्ठ पुरुष पार्श्व गायक: केसरी के लिए बी प्रैक (हिंदी)

🎬 प्रत्येक भाषा में सर्वश्रेष्ठ फिल्में 🎬

🏆 सर्वश्रेष्ठ हिंदी फिल्म: छिछोरे

🏆 सर्वश्रेष्ठ तेलुगु फिल्म: जर्सी

🏆 सर्वश्रेष्ठ मलयालम फिल्म: कल्ला नोतम

🏆 सर्वश्रेष्ठ तमिल फिल्म: असुरन

🏆 सर्वश्रेष्ठ पनिया फिल्म: केंजीरा

🏆 सर्वश्रेष्ठ मिशिंग फिल्म: अनु रुवाद

🏆 सर्वश्रेष्ठ खासी फिल्म: इवदु

🏆 सर्वश्रेष्ठ छत्तीसगढ़ी फिल्म: भुल्लन द मेज़

🏆 सर्वश्रेष्ठ हरियाणवी फिल्म: छोरीयां छोरों से काम नहीं होती

🏆 सर्वश्रेष्ठ तुलु फिल्म: पिंगरा

🏆 सर्वश्रेष्ठ पंजाबी फिल्म: रब दा रेडियो 2

🏆 सर्वश्रेष्ठ ओडिया फिल्म: कलीरा अतीता और साला बुधर बदला (साझा)

🏆 सर्वश्रेष्ठ मणिपुरी फिल्म: इगी कोना

🏆 सर्वश्रेष्ठ मराठी फिल्म: बार्दो

🏆 सर्वश्रेष्ठ कोंकणी फिल्म: काजरो

🏆 सर्वश्रेष्ठ कन्नड़ फिल्म: अक्षी

🏆 सर्वश्रेष्ठ बंगाली फिल्म: गुमनामी

🏆 सर्वश्रेष्ठ असमिया फिल्म: रोनुवा – हू नेवर सरेंडर

🏆 विशेष उल्लेख: बिरयानी (मलयालम), जोनाकी पोरुआ (असमिया), लता भगवान करे (मराठी) और पिकासो (मराठी)

🎬 नॉन-फीचर फिल्म पुरस्कार 🎬

🏆 सर्वश्रेष्ठ वॉइस-ओवर / कथन: वाइल्ड कर्नाटक के लिए सर डेविड एटनबरो (अंग्रेजी)

🏆 सर्वश्रेष्ठ संगीत निर्देशन: क्रांति दर्शी गुरुजी-अहेड ऑफ़ टाइम्स के लिए बैशाखज्योति (हिंदी)

🏆 सर्वश्रेष्ठ संपादन: शट अप सोना (हिंदी / अंग्रेजी) के लिए अर्जुन गौरीसरिया

🏆 सर्वश्रेष्ठ आत्मकथा: राधा (संगीत), ऑलविन रेगो और संजय मौर्य

🏆 सर्वश्रेष्ठ ऑन-लोकेशन साउंड रिकॉर्डिस्ट: रहस (हिंदी), सप्तर्षि सरकार

🏆 सर्वश्रेष्ठ सिनेमेटोग्राफी: सोंसी (हिंदी) के लिए सविता सिंह

🏆 सर्वश्रेष्ठ निर्देशन: नॉक नॉक नॉक (अंग्रेजी / बंगाली) के लिए सुधांशु सरिया

🏆 पारिवारिक मूल्यों पर सर्वश्रेष्ठ फिल्म: ओरु पाथिरा स्वप्न पोल (मलयालम)

🏆 सर्वश्रेष्ठ शॉर्ट फिक्शन फिल्म: कस्टडी (हिंदी / अंग्रेजी)

🏆 स्पेशल जूरी अवार्ड: स्माल स्केल सोसाइटीज (अंग्रेजी)

🏆 सर्वश्रेष्ठ एनिमेशन फिल्म: राधा (संगीत)

🏆 सर्वश्रेष्ठ खोजी फिल्म: जक्कल (मराठी)

🏆 सर्वश्रेष्ठ अन्वेषण फिल्म: वाइल्ड कर्नाटक (अंग्रेजी)

🏆 सर्वश्रेष्ठ शैक्षिक फिल्म: एपल्स एंड ऑरेंजेस (अंग्रेजी)

🏆 सामाजिक मुद्दों पर सर्वश्रेष्ठ फिल्म: होली राइट्स (हिंदी) और लाडली (हिंदी)

🏆 सर्वश्रेष्ठ पर्यावरण फिल्म: द स्टोर्क सेवियर्स (हिंदी)

🏆 सर्वश्रेष्ठ प्रचार फिल्म: द शॉवर (हिंदी)

🏆 सर्वश्रेष्ठ कला और संस्कृति फिल्म: श्रीक्षेत्र-रू-सहिजता (ओडिया)

🏆 सर्वश्रेष्ठ बायोग्राफिकल फिल्म: एलेफन्ट्स डू रिमेम्बर (अंग्रेजी)

🏆 सर्वश्रेष्ठ नृवंशविज्ञान फिल्म: चरन-अतवा द एस्सेन्स ऑफ बीइंग ए नोमड (गुजराती)

🏆 एक निर्देशक की सर्वश्रेष्ठ डेब्यू नॉन-फ़ीचर फ़िल्म: खिसा (मराठी) के लिए राज प्रीतम मोरे

🏆 सर्वश्रेष्ठ नॉन-फीचर फिल्म: एन इंजीनियर्ड ड्रीम (हिंदी)

🎬 अन्य पुरस्कार 🎬

🏆 मोस्ट फ़िल्म फ्रेंडली स्टेट: सिक्किम

🏆 सिनेमा पर सर्वश्रेष्ठ पुस्तक: संजय सूरी द्वारा अ गांधियन अफेयर: इंडियाज़ क्यूरियस पोर्ट्रयल ऑफ़ लव इन सिनेमा

🏆 (विशेष उल्लेख: अशोक राणे द्वारा सिनेमा पहराना मानुस और कन्नड़ सिनेमा : पीआर रामदासा नायडू द्वारा लिखित जगथिका सिनेमा विकास-प्रेरणा प्रभाव)


प्रिय दोस्तों, उम्मीद करते है हमारे द्वारा लिखा गया ये लेख 🏆 List Of 67th National Film Awardsआपको जरूर अच्छे लगे होंगे, National Film Awards से संबंधित अगर कोई प्रश्न रह जाता जाता है तो हमारे कमेन्ट बॉक्स मे शेयर कर सकते है

Join Telegram ChannelJoin Now
Join WhatsApp GroupJoin Now

Leave a Comment

error: Content is protected !!